9th IT9th IT Unit 1

what is BPO service and Advantage of BPO services in 2021

what is BPO service and Advantage of BPO services in 2021

आज की Post में आपको What is BPO service, BPO Full Form,Types of BPOAdvantage / Disadvantage of BPO, BPO Services job, भारत में BPO Outsourcing कंपनियाँ  की Full Information मिलेगी।

what is bpo service

bpo services

बीपीओ का फुल फाॅर्म business process outsourcing है। बीपीओ को इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी इनेबल्ड सर्विसेज के नाम से जाना जाता है। बीपीओ अपनी कार्यप्रवाह गतिविधियों और दायित्वों के संबंध में तीसरे पक्ष या एक स्वतंत्र सेवा प्रदाता के साथ एक संगठन अनुबंध है। यह एक लागत-बचत प्रक्रिया है जो उद्यमों को अपने गैर-मुख्य कार्यों को आउटसोर्स करने की अनुमति देती है। इस अवधि में बीपीओ ने काफी महत्व प्राप्त किया है।

BPO service एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें कॉन्ट्रैक्ट देकर किसी थर्ड पार्टी के द्वारा बिजनेस वर्क कराए जाते हैं जैसे Human Resources,  Accounting, Customer Care/Call Centre की सेवाएं इत्यादि।

BPO Service के प्रकार-

Types of bpo

पूरी दुनिया में बीपीओ कंपनियाँ अपनी सेवाएं अलग-अलग संगठनों को देती है इसलिए उनके सर्विस प्रोवाइडर लोकेशन के अनुसार अलग-अलग भागों में विभाजित किया गया। जिसे निम्न प्रकार से जानते हैंं-

  • Offshore Outsourcing

Offshore Outsourcing तब की जाती है जब  कंपनी किसी काम के संबंधित जरूरत को पूरा करने के लिए विदेशी कंपनी को काम पर रख लेती है।

  • Onshore Outsourcing

Onshore Outsourcing तब की जाती है जब कंपनी उसी देश में काम करने वाली कंपनी के साथ contract करती है।

  • Nearshore Outsourcing 

Nearshore Outsourcing तब की जाती है जब किसी संगठन के द्वारा पड़ोसी देशों की कंपनियों से सेवा प्राप्त करने के लिए कांटेक्ट साइन किया जाता है।

Advantage of BPO service (बीपीओ सेवा के लाभ)

जब कोई भी संगठन बीपीओ सेवा लेती है निम्न लाभ पर काम करती है-

  • समय की बचत
  • पैसा बचाना
  • लचीलापन और मापनीयता
  • समय क्षेत्र लाभ
  • परियोजना आधारित जनशक्ति

Disadvantage of BPO service (बीपीओ सेवा से हानि)

  • डेटा प्राइवेसी की breach (टूटने) होने की संभावना ज्यादा होती है।
  • यहाँ पर running costs को underestimate कर दिया जाता है।
  • Service Providers के ऊपर ज्यादा overdependnce (अतिनिर्भरता)  करना पड़ जाता है।

BPO Service

बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग सेवाएं का अर्थ हैं कि बाहरी सेवा प्रदाता के माध्यम से व्यापार का संचालन करना। आईटी व्यावसायिक प्रदर्शन को बेहतर बनाने में बीपीओ सेवाएं बहुत उपयोगी भूमिका निभाता है। बीपीओ सेवाओं में से कुछ इस प्रकार हैं –

  1. वित्तीय और लिखित सेवाएं
  2. कर लगाना और बीमा सेवा
  3. ई-प्रकाशन और वेब संवर्धन
  4. कानूनी सेवाएं और सामग्री लेखन
  5. मल्टीमीडिया और डिजाइन सेवाएं
  6. दस्तावेज प्रबंधन सेवाएं
  7. सॉफ्टवेयर परीक्षण सेवाएं
  8. स्वास्थ्य देखभाल सेवाएं

BPO Service jobs

बीपीओ सर्विस कंपनियों में निम्न fields में jobs कर सकते हैं-

  • Operations Management
  • Content Management
  • Research And Analytics
  • Legal Services
  • Training And Consultancy
  • Data Analytics

job

भारत मेें बीपीएम उद्योग

आईटी बीपीएम (बिजनेस प्रोसेस मैनेजमेंट) उद्योग भारत के विकास में एक असाधारण काम कर रहा है। यह उद्योग गुणवत्तापूर्ण सेवाएं प्रदान करता है।भारत का आईटी-बीपीएम उद्योग वैश्विक आउटसोर्सिंग बाजार के आकार का 55% है। अनुकूल सरकारी नीतियां और प्रोत्साहन आईटी उद्योग में निवेश की सुविधा प्रदान करते हैं। तेजी से बढ़ते शहरी बुनियादी ढांचे ने देश में कई आईटी केंद्रों को बढ़ावा दिया है। देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) और निर्यात में योगदान देने के अलावा, आईटी बीपीएम उद्योग के विकास ने भारत को आर्थिक और सामाजिक लाभों की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान की है जिसमें रोजगार पैदा करना, आय का स्तर बढ़ाना और निर्यात को बढ़ावा देना शामिल है।

बीपीएम संगठनों को लागत कम करने और दक्षता बढ़ाने में मदद करता है। इसका मतलब कंपनियों के लिए अधिक राजस्व और विकास के साथ-साथ सरकारी एजेंसियों के लिए गति, संगठन और दक्षता में वृद्धि हो सकती है। लंबे समय में, बीपीएम संगठनात्मक चपलता में सुधार करके प्रतिस्पर्धात्मक लाभ बनाने में मदद करता है।

IT-BPM Industry

 

भारत में कुछ बीपीओ आउटसोर्सिंग कम्पनियाँ

  • जेनपैक्ट –  जेनपैक्टNYSEG) एक भारतीय बिज़नेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग और आईटी कंपनी है। यह पूर्व में GE के स्वामित्व वाली कंपनी थी, जिसे GE कैपिटल इंटरनेशनल सर्विसेज या GECIS कहा जाता था।
  • टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS)टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस लिमिटेड (टीसीएस) एक भारतीय बहुराष्ट्रीय कम्पनी सॉफ्टवेर सर्विसेस एवं कंसल्टिंग कंपनी है। यह दुनिया की सबसे बड़ी सूचना तकनीकी तथा बिज़नस प्रोसेस आउटसोर्सिंग सेवा प्रदाता कंपनियों में से है। टीसीएस नेशनल स्किल्स रजिस्ट्री (NSR) का हिस्सा है, जो की भारत की आई टी सेवाओं और बी पी ओ कंपनियों में काम करने वाले सभी कर्मचारियों का डाटा बेस है। NSR का उद्देश्य है की आई टी तथा बी पी ओ उद्योग में भर्ती को बेहतर बनाना, जिस से की विश्व में भारत को प्रतिस्पर्धात्मक लाभ बना रहेगा।
  • आईबीपीएम – IBPS को इंस्टिट्यूट ऑफ़ बैंकिंग पर्सनल सिलेक्शन भी कहते हैं. IBPS एक ऐसी संस्था है जो बैंक में कर्मचारियों की नियुक्ति करने का काम करती है।
  • हिंदुजा ग्लोबल साॅल्यूशंस (HGS)  –    एचजीएस ऑटोमेशन, एनालिटिक्स और डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन में प्रौद्योगिकी-संचालित सेवाओं को जोड़ती है, जिसमें ग्राहक को परिवर्तनकारी प्रभाव देने के लिए बैक ऑफिस प्रोसेसिंग, कॉन्टैक्ट सेंटर, पारंपरिक और डिजिटल कस्टमर केयर और एचआरओ समाधानों पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।

सारांश

मुझे उम्मीद है कि मैंने आप लोगों को बीपीओ क्या है के बारे में पूरी जानकारी दी और मैं आशा करती हूँ आप लोगों को बीपीओ के बारे में समझ आ गया होगा । यदि आप लोगों को किसी भी तरह का कोई भी Doubts है तो आप  कंमेंट करके मुझसे पूछ सकते है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Close your Adblocker